May 11, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

कुंभ से पहले राममयी हुआ हरिद्वार, बदली हरि के द्वार की सूरत !

उत्तराखंड- हरिद्वार –कुंभ 2021 के लिए तैयार हो रही धर्म नगरी इस बार लोक परंपराओं व संस्कृति के रंगों में डुबी हुई है. हरिद्वार की दीवारें पूरी तरह से कुंभ के रंग में रंग गई हैं. दीवारों पर दर्शाई गई धार्मिक आस्था, लोक परंपरा और पौराणिक संस्कृति श्रध्दालुओं को अपनी ओर आकर्षित कर रही है.

धर्म नगरी इस बार लोक परंपराओं व संस्कृति के रंगों में डुबी हुई है.
धर्म नगरी इस बार लोक परंपराओं व संस्कृति के रंगों में डुबी हुई है.

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने इस विषय पर कहा, कि राज्य सरकार दिव्य और भव्य कुंभ के लिए प्रतिबध्द है. प्रयास किए जा रहे है, कि यहां आने वाले करोड़ों श्रध्दालु उत्तराखंड की लोक व सांस्कृतिक विरासत से भी रूबरू हो. हरिद्वार कुंभ 2021 को इसके लिए बिल्कुल सही मौका माना जा रहा है, इसके लिए चित्रकला को जरिया बनाया गया है.

हरीद्वार कुंभ 2021इस बार चित्रकला को जरिया बनाया गया.
हरीद्वार कुंभ 2021इस बार चित्रकला को जरिया बनाया गया.

हरिद्वार-रूड़की विकास प्राधिकरण के पेंट माई सिटी अभियान ने हरिद्वार की फिजा ही बदल दी है. यहां दीवारों और खाली जगहों पर देवभूमि की परंपराओं और संस्कृति के रंग दिखाए गए, तो कहीं देवी-देवताओं, धार्मिक परम्पराओं के तो कहीं लोक संस्कृति के चित्र देखने को मिले. कुंभ क्षेत्र में सरकारी भवनों समेत पुल,घाट आदि की दीवारों को धार्मिक मान्यताओं के पौराणिक और सांस्कृतिक चित्रों से सजाया गया है. इसके पीछे मंशा यही है, कि देश और दुनिया से आए श्रद्धालुओं के मन में आस्था भाव तो जागृत हो ही, साथ ही वो यहां की परंपरा, संस्कृति और पौराणिक विरासत से भी रूबरू हो सकें.

सरकारी भवनों समेत पुल,घाट की दीवारों को  सांस्कृतिक चित्रों से सजाया गया है.
सरकारी भवनों समेत पुल,घाट की दीवारों को सांस्कृतिक चित्रों से सजाया गया है.

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी का कहना है, कि उन्हें शासन-प्रशासन पर पूरा भरोसा है, कि कुंभ भव्य और दिव्य रुप से आयोजित किया जाएगा. बिजली के पोल लगा दिए गए है. अखाड़ा परिषद सरकार के साथ मिलकर भव्य मेला आयोजित करेगी. सरकार की सारी गाइड लाइन का पालन किया जाएगा.

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और हरिद्वार के स्थानीय विधायक मदन कौशिक ने बताया कि कुंभ मेला क्षेत्र को चित्रकला से सजाने में विभिन्न संस्थाओं का सहयोग रहा है. जिसके हम बहुत आभारी है. साथ ही उन्होंने कहा कि कुंभ की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं, और इस बार का कुंभ दूसरे कुंभ की तरह दिव्य और भव्य होगा.

Share, Likes & Subscribe