February 25, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

आउटसोर्स कर्मचारियों को उत्पीड़न के साथ मिल रहा है तय से कम वेतन !

उत्तराखंड- उत्तराखंड कार्मिक, शिक्षक, आउटसोर्स संयुक्त मोर्चा ने सरकार पर आउटसोर्स कर्मचारियों के वेतन में गड़बड़ी और उत्पीड़न का आरोप लगाया है. मोर्चा के मुख्य संयोजक ठाकुर प्रहलाद सिंह ने बताया, कि सरकार आउटसोर्स कर्मचारियों को 15000 रुपये प्रति व्यक्ति से अधिक का भुगतान करती है. बावजूद इसके इन कर्मचारियों को कभी आठ हजार तो कभी पांच हजार रुपये थमा दिए जाते हैं. हर आउटसोर्स कंपनी में उनका शोषण हो रहा है.

 15000 वेतन, और मिलते हैं बस 5000
फाइल फोटो- 15000 वेतन, और मिलते हैं बस 5000

इसके अलावा संयुक्त मोर्चा और उपनल कर्मचारी महासंघ ने भी सरकार से उपनल कर्मचारियों को नियमित करने की मांग की है. देहरादून में बुधवार को हुई महासंघ की प्रदेश कार्यकारिणी बैठक में महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष कुशाग्र जोशी ने कहा, कि हाईकोर्ट उपनल कर्मचारियों को नियमित करने के आदेश दे चुका है. नियमित न होने वाले कर्मचारियों को समान काम का समान वेतन देने के भी देश दिए गए हैं. जिसके बाद भी राज्य सरकार के स्तर से कोई निर्णय नहीं लिया गया है.

सरकारी विभागों को दिन-रात सेवाएं देने के बाद भी उपनल कर्मचारियों का भविष्य अंधेरे में
फाइल फोटो- सरकारी विभागों को दिन-रात सेवाएं देने के बाद भी उपनल कर्मचारियों का भविष्य अंधेरे में

महासचिव हेमंत सिंह रावत नें कहा, कि उपनल कर्मचारी पूरे मन से राज्य सरकार के समस्त विभागों में अपनी सेवाएं देता आ रहा है. जिसके बाद भी उपनल कर्मचारियों का भविष्य अंधेरे में है. बैठक में तय किया गया, कि यदि सरकार 4 हफ्तों के भीतर उनकी मांगे नहीं मानती, तो 22 और 23 फरवरी से कार्यों का बहिष्कार शुरु कर दिया जाएगा. जिसकी पूरी जिम्मेदारी शासन की होगी.

Share, Likes & Subscribe