February 25, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

कुंभ में डुबकी लगाने के लिए नियमों का पालन जरुरी, जाने क्या हैं, ये नियम !

उत्तराखंड- हरिद्वार- कुंभ में आने से पहले श्रद्धालुओं का आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना अनिवार्य कर दिया गया है. कोविड से बचाव के लिए दूसरे राज्यों के श्रद्धालुओं को 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट में नेगेटिव पाए जाने के बाद ही कुंभ क्षेत्र में प्रवेश दिया जाएगा. केंद्र स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को एसओपी जारी कर दी है. केंद्र ने ये स्पष्ट कर दिया है, कि राज्य सरकार को श्रद्धालुओं के लिए पंजीकरण की व्यवस्था करनी होगी. जिसमें कंभ आने वाले श्रद्धालुओं को अपने राज्यों से स्वास्थ्य परीक्षण रिपोर्ट देनी होगी.

कुंभ के लिए सरकार ने जारी की गाइडलाइन्स
फाइल फोटो- कुंभ के लिए सरकार ने जारी की गाइडलाइन्स

केंद्र सरकार ने 65 साल से अधिक उम्र के लोगों, गर्भवती और बीमार महिलाओं के साथ 10 साल से कम उम्र के बच्चों को भी कुंभ के प्रति हतोत्साहित करने के लिए कहा है. जिसके लिए राज्य सरकार अन्य राज्यों की सरकारों के साथ समन्वयक भी स्थापित करेगी.

पीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही मिलेगी कुंभ में एंट्री
फाइल फोटो-आरटी- पीसीआर रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही मिलेगी कुंभ में एंट्री

केंद्र सरकार ने कुंभ के दौरान भीड़ के बावजूद लोगों के बीच न्यूनतम 6 फीट की दूरी रखने को कहा है. मेला क्षेत्र में मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे मानकों का पालन न करने वालों पर सख्ती बरतने के भी आदेश दिए हैं. इसके अलावा राज्य सरकार कुंभ क्षेत्र के एंट्री गेट और पार्किंग एरिया में सरकारी दरों पर और जरुरतमंदों, साथ ही को निशुल्क फेस मास्क उपलब्ध कराएगी.

 मेला क्षेत्र में लोगों की आवाजाही एक समान बनाए रखने के निर्देश
फाइल फोटो- मेला क्षेत्र में लोगों की आवाजाही एक समान बनाए रखने के निर्देश

सरकार ने मेला क्षेत्र में लोगों की आवाजाही एक समान बनाए रखने को कहा है. एक जगह पर ज्यादा भीड़ न रुकने देने के भी निर्देश दिए गए हैं. गाइडलाइन्स के मुताबिक मेला प्रशासन जगह-जगह पर हाथ धोने की सुविधा देगा, साथ ही सार्वजनिक शौचालयों और तमाम जगहों को दिन में दो बार सेनिटाइज किया जाएगा. सार्वजनिक स्थलों पर थूकने वालों पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा. सभी श्रद्धालुओं के लिए आरोग्य सेतू डाउनलोड करना अनिवार्य है.

Share, Likes & Subscribe