January 16, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

प्रदूषण से बचना है तो इन शहरों से रहना ज़रा बचके !

उत्तर प्रदेश- लॉकडाउन खत्म होते ही दोबारा जैसे आम जन जीवन पटरी पर लौटा है, उसी के साथ अब यूपी में भी प्रद्रूषण का कहर तेज़ी से बढ़ रहा है।

आपको बता दें कि देश के सबसे प्रदूषित शहरों में उत्तर प्रदेश के 3 शहर शीर्ष पर हैं,  केद्रींय प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड (सीपीसीबी) की सूची के हिसाब से देखा जाए तो शुक्रवार को कानपुर देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा, जहां एयर क्वालिटी इडेंक्स (एक्यूआई) 390 रहा,  जबकि आगरा दूसरे नबंर पर है जहां एक्यूआई 355 दर्ज किया गया।

ताज ट्रिपेजियम ज़ोन (टीटीज़ेड) अथॉरिटी की 30 से अधिक बंदिशे और सुप्रीम कोर्ट की सीधी निगरानी के बावजूद आगरा देश के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में है।

ताजनगरी में शुक्रवार को एयर क्वालिटी इडेंक्स जारी किए गए। आगरा की हवा के प्रदूषित होने का मुख्य कारण ये है कि वहां धूल नियत्रंण के उपाय नहीं किए गए हैं। आगरा के ईदगाह चौराहे को सबसे प्रदूषित इलाका बताया गया है, जिसका एक्यूआई 467 है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी,  स्मार्ट कपंनी और जल निगम यमुना प्रदूषण नियंत्रण इकाई,  निर्माण इकाई के कार्यों के कारण कानपुर शहर में एक्यूआई 390,  आगरा में 355,  गाज़ियाबाद में 347,  बुलदं शहर में 336,  ग्रेटर नोएडा में 330,  वाराणसी में 313 और लखनऊ में 312 बना हुआ है।

आपको बता दें कि देश के सबसे प्रदूषित शहरों में उत्तर प्रदेश के 3 शहर शीर्ष पर हैं,  केद्रींय प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड (सीपीसीबी) की सूची के हिसाब से देखा जाए तो शुक्रवार को कानपुर देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा, जहां एयर क्वालिटी इडेंक्स (एक्यूआई) 390 रहा,  जबकि आगरा दूसरे नबंर पर है जहां एक्यूआई 355 दर्ज किया गया।

ताज ट्रिपेजियम ज़ोन (टीटीज़ेड) अथॉरिटी की 30 से अधिक बदिंशे और सुप्रीम कोर्ट की सीधी निगरानी के बावजूद आगरा देश के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में है।

आगरा में छाया प्रदूषण का कहर

ताजनगरी में शुक्रवार को एयर क्वालिटी इडेंक्स जारी किए गए। आगरा की हवा के प्रदूषित होने का मुख्य कारण ये है कि वहां धूल नियत्रंण के उपाय नहीं किए गए हैं। आगरा के ईदगाह चौराहे को सबसे प्रदूषित इलाका बताया गया है, जिसका एक्यूआई 467 है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी,  स्मार्ट कपंनी और जल निगम यमुना प्रदूषण नियत्रंण इकाई,  निर्माण इकाई के कार्यों के कारण कानपुर शहर में एक्यूआई 390,  आगरा में 355,  गाज़ियाबाद में 347,  बुलदं शहर में 336,  ग्रेटर नोएडा में 330,  वाराणसी में 313 और लखनऊ में 312 बना हुआ है।

Share, Likes & Subscribe