January 20, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

यूपी पंचायत चुनाव – कन्फ्यूजन में उम्मीदवार !

उत्तर प्रदेश- पंचायत चुनाव की तैयारियां यूपी में जोर-शोर से चल रहीं हैं। प्रशासन से संबंधित कार्यों के चलते चुनाव के मैदान में उतरने वाले नेताओं ने भी अपने हाथों को कस लिया है।

पंचायती चुनाव की तैयारियां ज़ोरों पर
पंचायती चुनाव की तैयारियां ज़ोरों पर

प्रचार-प्रसार के लिए नेताओं ने पोस्टर तैयार कर घर घर जाकर लोगों से संपर्क भी तेज़ कर दिया है। कुछ गावों को नगरों में शामिल करने की बात भी सामने आ रही है जिसके कारण यूपी मे तैयारी कर चुके नेताओं के चेहरों पर मासूमियत देखने को मिली क्योंकि अगर ऐसा हुआ तो वो चुनाव नही लड़ पाएंगे। फिलहाल सभी नेताओं को परिसीमन लिस्ट का बेसब्री से इंतजार है जो की शासन स्तर से जारी की जाएगी।

नगर समुदाय में वाराणसी, गोरखपुर, मेरठ, लखनऊ, नोएडा, सहारनपुर, गाजियाबाद सहित ऐसे बहुत से गांवों को शामिल किया जा चुका है। यूपी के देवरिया शहर में ही 129 गावों के उम्मीदवार काफी परेशान हैं। नेताओं की परेशानी भी जायज़ है क्योंकि उनकी ग्राम पंचायतों को नगर निकाय बनाने का सुझाव रखा गया है। लगभग 59 गांव इसमे शामिल हैं। रुद्रपुर नगर पंचायत को नगरपालिका का स्वरूप 16 गांव को जोड़कर दिया जाएगा। इसके अलावा बरवामीर छापर और पिंडी को नगर निकाय बनाने का प्रस्ताव अभी कुछ समय के लिए स्थगित किया हुआ है।

129 गांवो के चुनाव पर जताई जा रही है संभावनाएं
129 गांवो के चुनाव पर जताई जा रही है संभावनाएं

शासन को नगर पालिका परिषद गौरा बरहज में 8 और नगर पालिका देवरिया में 30 गावों को भी शामिल कर के सीमा विस्तार का प्रस्ताव भेजा गया है। जिसके ऊपर शासन से मुहर लगने की आशा एक या दो दिन में की जा रही है। 129 गावों के चुनाव पर संभावना जताई जा रही है। जिसको पंचायतराज विभाग भी दूर नही कर पा रहा है। यहां तक की ग्राम प्रधान और बीडीसी के उम्मीदवारों के चेहरों में भी खामोशी देखने को मिली है। उन्हें यह समझ नही आ रहा है, कि निकाय के चुनाव की तैयारी की जाए या नगरीय चुनाव की। तरकुलवा में 07, हेतिमपुर में 09, पथरदेवा में 08, मदनपुर में 17, लक्ष्मीपुर में 06, बौतालपुर में 12 गावों को नगर पंचायत में जोड़ने की प्रस्तावना है। उम्मीदवारों को अब केवल शासन के निर्देश का इंतजार है।

Share, Likes & Subscribe