April 20, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

मकर संक्रांति पर होगी पुलिस-प्रशासन कीअग्नि परीक्षा !

उत्तराखंड- हरिद्वार- आने वाली 14 जनवरी को मकर संक्रांति स्नान पर्व मेला पुलिस और प्रशासन के लिए कुंभ- 2021 की पहली परीक्षा साबित होगी. मकर संक्रांति स्नान पर्व की गिनती साल के बड़े स्नान पर्वों में होती है. वहीं, कुंभ और अधर्दकुंभ के दौरान मकर संक्रांति स्नान पर्व का महत्व और बढ़ जाता है. हालांकि यह कोविड काल में यह पहला स्नान पर्व है, जिस पर कोई प्रतिबंध नही लगाया है.इसलिए मकर संक्रांति पर्व पर हरिद्वार में लाखों श्रध्दालुओं के पहुंचने की संभवना है.

सामान्य परीस्थितियों को बरकरार रखने के लिए रूट प्लान 13 जनवरी दोपहर 12 बजे से 15 जनवरी दोपहर 2 बजे तक
सामान्य परीस्थितियों को बरकरार रखने के लिए रूट प्लान 13 जनवरी दोपहर 12 बजे से 15 जनवरी दोपहर 2 बजे तक.

इस साल 14 जनवरी को होने वाला मकर संक्रांति स्नान पर्व श्रध्दालुओं के लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि कोविड काल के बाद कांवड़ मेला, सोमवती अमावस्या, कार्तिक पूर्णिमा जैसे तमाम स्नान पर्वों पर प्रतिबंध रहा है.

श्रध्दालुओं की भीड़ की संभवना को मद्देनजर देखते हुए मेला पुलिस-प्रशासन ने बाहरी राज्यों से आने वाले वाहनों का रूट प्लान जारी करने के साथ पार्किंग की जगह भी चुन ली गई है. शहर में वाहनों का दबाव बढ़ने की स्थिति में रूट डायर्वजन भी लागू किया जाएगा.

भीड़ के सामान्य रहने पर जिस भी धारक एवं गंगा सभा का परिचय पत्र धारक होगा वो व्यक्ति प्लान के विपरीत दिशा में भी जा सकेंगे. सामान्य परीस्थितियों में यातायात को बरकरार रखने के लिए रूट प्लान 13 जनवरी दोपहर 12 बजे से 15 जनवरी दोपहर 2 बजे तक लागू रहेगा. जरूरत वाले सामान में दूध, तेल,गैस आदि के ट्रक एवं टैंकर पर यह प्रतिबंध नहीं होगा.

लेकिन अभी प्रशासन का कहना है कि राज्य सीमा पर श्रध्दालुओं को रोका नही जाएगा. बॉर्डर में पहले ही की तरह केवल रैंडम सैंपलिंग व्यवस्था ही होगी.
डीएम सी. रविशंकर ने सोमवार को मकर संक्रांति के चलते होटल, धर्मशाला, आश्रम गेस्ट हॉउस प्रबंधन को श्रध्दालुओं की थर्मल स्कैनिंग करना जरूरी होगा. सभी लोगो के लिए सोशल डिस्टेन्स और मास्क पहनना भी जरूरी होगा.

मकर संक्रंति के स्नान पर्व को लेकर जिला प्रशासन ने एसओपी जारी कर दी है. राज्य के बाहर से आने वाले श्रध्दालुओं को पांच दिन की कोविड आरटीपीसीआर जांच की निगेटिव रिपोर्ट साथ लाना जरूरी होगा. इसके चलते डीएम ने यह भी बताया, कि किसी भी श्रध्दालु को रोका नहीं जाएगा, लेकिन अगर कोविड रिपोर्ट न लाने का मामला सामने आता है तो इसकी कार्रवाई की जाएगी.

Share, Likes & Subscribe