January 25, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

कोरोना के नये स्ट्रेन से सहमा भारत,6 भारतीय संक्रमित !

नेशनल डेस्क- नई दिल्ली- ब्रिटेन समेत यूरोपीय देशों में कहर मचाने वाला कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन अब भारत में भी फैलना शुरू हो चुका है. देश में 6 लोग इस नए वायरस से पीड़ित पाए गए हैं और ये सभी लोग हाल ही में ब्रिटेन से लौटे हैं. इन सभी लोगों को सिंगल आइसोलेशन रूम में रखा गया है.और इनके संपर्क में आए करीबी लोगों को भी क्वारंटाइन कर दिया गया है.

देश में 6 लोग इस नए वायरस से पीड़ित पाए गए हैं.सभी लोगों को सिंगल आइसोलेशन रूम में रखा गया है.
देश में 6 लोग इस नए वायरस से पीड़ित पाए गए हैं.सभी लोगों को सिंगल आइसोलेशन रूम में रखा गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय की जानकारी के मुताबिक 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से लगभग 33,000 यात्री भारत में उतरे थे. इन सभी यात्रियों को ट्रैक कर राज्य सरकारों द्वारा आरटी- पीसीआर टेस्ट करवाया जा रहा है. अभी तक 114 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. जिनमे से कुल 6 लोगों मे ब्रिटेन का ये नया स्ट्रेन पाया गया है और इन 6 लोगों में से तीन लोगो में ये नया स्ट्रेन बेंगलुरू की NIMHANS में, 2 हैदराबाद की सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी में और एक पुणे की नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ वायरोलॉजी की लैब में पाया गया है. मंत्रालय ने बताया है, कि इन सभी संक्रमितों को अलग- अलग आइसोलेशन में रखा गया है.

आम स्ट्रेन के मुकाबले यह 3 गुना ज्यादा संक्रामक है
आम स्ट्रेन के मुकाबले यह 3 गुना ज्यादा संक्रामक है

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा था, कि पुराने कोरोना के मुकाबले यह नया वैरिएंट तेजी से फैलता जाहिर हो रहा है. और ये नया वैरिएंट 70 फीसदी अधिक संक्रामक बताया जा रहा है. इससे प्रभावित इलाकों में कोरोना के मामलों में 300 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है.यानी आम स्ट्रेन के मुकाबले यह 3 गुना ज्यादा संक्रामक है.कोरोना वायरस के इस नए वैरिएंट(B.1.1.7) के बारे में अभी वैज्ञानिकों को ज्यादा जानकारियां नही मिली हैं. इसके जीनोम संरचना पर अभी रिसर्च चल रही है. वैज्ञानिक अभी ये पता लगाने में जुटे है, कि इसमें हुए म्यूटेशन से वायरस और ज्यादा खतरनाक हो रहा है या कमजोर और क्या ये नया स्ट्रेन जांच में सही से पकड़ा जा सकता है या नहीं.
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कोरोना वायरस के नए मामलों को देखते हुए एक गाइडलाइंस जारी की है. इसमें मौजूदा कोविड-19 गाइडलाइंस को 31 जनवरी तक बढ़ा दिया गया है. इसके अलावा गृह मंत्रालय ने ब्रिटेन में पाए गए कोरोना के नए स्ट्रेन से सावधान रहने की भी हिदायत दी है.

Share, Likes & Subscribe