April 20, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

कुंभ के लिए होने वाली तैयारियों पर नया उदासीन अखाड़ा में महंतों की बैठक

भव्य और दिव्य होगा “कुंभ” 2021

उत्तराखंड-हरिद्वार- 2021 में आयोजित होने वाली कुंभ की तैयारियां ज़ोरों पर हैं। कोरोना काल में आयोजित होने वाले कुंभ में श्रध्दालुओं और संतो को किसी भी प्रकार की समस्या न हो इसके लिए भी विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। जिसके लिए 25 दिसम्बर को कनखल स्थित पंचायती नया उदासीन अखाड़ा में कुंभ मेले को लेकर अखाड़ा परिषद की बैठक हुई। जिसमें कुंभ को 2010 की तरह सम्पन्न कराने का निर्णय लिया गया। क्योंकि भव्य और दिव्य होगा “कुंभ” 2021

कुंभ के लिए होने वाली तैयारियों पर नया उदासीन अखाड़ा में महंतों की हुई बैठक
कुंभ के लिए होने वाली तैयारियों पर नया उदासीन अखाड़ा में महंतों की हुई बैठक

बैठक में मेलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को एक पत्र भेजा गया है, जिसमें भूमि आवंटन, मूलभूत सुविधाएं और प्रयागराज में माघ मेले की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करवाने की बात कही गई है।
बैठक में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री महन्त नरेन्द्र गिरी ने कहा, कि 2021 में आयोजित कुंभ को भव्य और दिव्य रुप से सम्पन्न कराया जाएगा। जिसमें अखाड़ों से जुड़े जगद्गुरु, धर्माचार्य, शंकराचार्य, महामंडलेश्वर, रामानंदाचार्यों सहित संत महापुरुष कुंभ स्नान के लिए हरिद्वार आएंगे। इसी के साथ उन्होंने ये भी कहा, कि यदि सरकार या मेला प्रशासन सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा सकता तो अखाड़े स्वयं अपने बल पर सभी व्यवस्थाएं करेंगे।

कुंभ 2021 होगा भव्य और दिव्य - महन्त नरेन्द्र गिरी, राष्ट्रीय अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद
कुंभ 2021 होगा भव्य और दिव्य – महन्त नरेन्द्र गिरी, राष्ट्रीय अध्यक्ष, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद

वहीं वैष्णव अखाड़ें के संबंध में महंत गिरी ने कहा, कि बैरागी अखाड़ों के शिविर हमेशा की तरह बैरागी कैंप में ही लगेंगे। महंत नरेन्द्र गिरी ने बैरागी कैंप पहुंचकर तीनों बैरागी अखाड़ों के संतो से मेले की व्यवस्थाओं पर चर्चा की।
जिसके बाद श्री पंच निर्मोही अणी अखाड़े के अध्यक्ष महंत राजेन्द्र दास ने कहा, कि कुंभ मेला स्नातन धर्म का सबसे बड़ा पर्व है। मेले को भव्य और दिव्य रुप से सम्पन्न कराना सभी संतों का कर्तव्य है। इसी के साथ मेले की व्यवस्थाओं के बारे में कहा, कि मेला शुरु होने में बहत कम समय रह गया है। मेला प्रशासन तीव्र गति से बैरागी कैंप से जुड़े कामों को पूरा करें।

2010 की तर्ज पर होगा कुंभ का भव्य आयोजन
2010 की तर्ज पर होगा कुंभ का भव्य आयोजन

सूचना के मुताबिक, यदि राज्य सरकार संतो की मांग का विरोध करती है तो, महंत गिरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह से स्वयं मुलाकात कर कुंभ को बड़े स्तर पर सम्पन्न कराने की मांग करेंगे। साथ ही, यदि अखाड़ों को राज्य सरकार से सहयोग नहीं मिलता है तो 4 जनवरी के बाद अखाड़े अपने स्तर पर तैयारियां शुरु कर देंगे। इसी कड़ी में, महंत गौरी शंकर दास और महंत रामशरण ने कहा कि, मेले में लाखों की संख्या में बैरागी संतो का आगमन होता। जरुरी और मूलभूत सुविधाएं न मिलने से संतो के साथ-साथ श्रध्दालुओं को भी भारी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।
जिसके बाद अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्री महंत गिरी ने बैरागी संतों को कुंभ मेला दिव्य रुप से सम्पन्न कराने का आश्वासन दिया है।

Share, Likes & Subscribe