January 25, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

कुंभ का शंखनाद, 25 जनवरी को होगा अखाड़ों की धर्मध्वजा का नगर प्रवेश !

उत्तराखंड– कुंभ मेले की तैयारियां अब अपने अंतिम चरण में हैं. 14 जनवरी को पर्व स्नान की घोषणा कर दी गई है. कुंभ के पहले स्नान के लिए मेला पुलिस भी जोरशोर से तैयारियों में जुट गई है. पुलिस के अनुमान के मुताबिक लगभग 15 लाख श्रध्दालुओं के आने की आशंका है. जिसको मध्येनजर रखते हुए तैयारियां की जा रही हैं.

कुंभ के पहले स्नान पर 15 लाख श्रद्धालुओं के हरिद्वार पहुचने का है अनुमान !

इसके अलावा कुंभ मेले के लिए जूना अखाडा, आह्वान अखाड़ा और अग्नि अखाड़ा ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री और जूना अखाड़ा के अंतर्राष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरी से विचार-विमर्श करने के बाद नगर प्रवेश, भूमि पूजन, धर्म ध्वजा और पेशवाई की तिथियां भी घोषित कर दी हैं.

व्यवस्था संभालने को है पुलिस की पूरी तैयारी !

महंत हरिगिरी ने जानकारी देते हुए बताया, कि जूना अखाड़ा, आह्वान अखाड़ा और अग्नि अखाड़ा तीनों एक साथ साही स्नान करते हैं. तीनों की धर्मध्वजा और छावनी जूना अखाड़े के परिसर में ही स्थापित होती हैं. जिसके चलते 25 जनवरी को जूना अखाड़े की अगुवाई में आह्वान अखाड़ा और अग्नि अखाड़ा कांगड़ी स्थित प्रेमगिरी आश्रम से धर्मध्वजा लेकर नगर में प्रवेश करेंगे. जूलूस के आगे-आगे रमता पंच चलेंगे.

तीनों अखाड़े करेंगे बारी-बारी से अपनी धर्म-ध्वजा स्थापित !

इससे पहले अखाड़े में रमता पंच और साधू संत देवी-देवताओं की पूजा करेंगे. 16 फरवरी को सुबह 10:23 मिनट से दोपहर दो बजे तक जूना अखाड़े में धर्मध्वजा स्थापना के लिए भूमि पूजन करेंगे. जिसके बाद तीनों अखाड़े बारी-बारी से अपनी धर्मध्वजा स्थापित करेंगे.

27 फरवरी को दोपहर 12:40 मिनट पर ज्वालापुर स्थित पांडेवाला से अग्नि अग्नि अखाड़े की पेशवाई निकलेगी. पेशवाई नगर से होते हुए जूना अखाड़े पहुंचकर अपनी-अपनी छावनियों में प्रवेश करेंगे.

Share, Likes & Subscribe