January 17, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

आज से दौड़ेगी देश की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो !

नेशनल डेस्क- नई दिल्ली- भारत भी अब उन चुनिंदा देशों में शामिल हो जाएगा, जहां बिना ड्राइवर के मेट्रो ट्रेनें चलाई जा रही हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मजेंटा लाइन पर चलने वाली ड्राइवरलेस मेट्रो सेवा का आज उद्घाटन करेंगे.इसके साथ ही,पीएम मोदी एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड(NCMC) सेवा का भी शुभारम्भ करेंगे. इसमें डेबिट कार्ड मेट्रो के स्मार्ट कार्ड की तरह काम कर सकेंगे.यात्री गेट पर उसे पंच करके कोई भी शख्स यात्रा कर पाएगा. पैसे यात्री के बैंक अकाउंट से कट जाएंगे और लोगों को मेट्रो का स्मार्ट कार्ड साथ लेकर चलने की जरूरत नहीं होगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज विडीयो कांफ्रेंसिंग के जरिए मजेंटा लाइन पर चलने वाली ड्राइवरलेस मेट्रो सेवा का आज उद्घाटन करेंगे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज विडीयो कांफ्रेंसिंग के जरिए मजेंटा लाइन पर चलने वाली ड्राइवरलेस मेट्रो सेवा का आज उद्घाटन करेंगे

देश में बिना चालक के चलने वाली यह पहली मेट्रो होगी.ये मेट्रो जनकपुरी वेस्ट से बॉटनिकल गार्डन के बीच चलेगी. मजेंटा लाइन 38 किलोमीटर लंबी लाइन है,जिसपर कुल 25 मेट्रो स्टेशन है.
इसके बाद मजलिस पार्क-शिव विहार के बीच भी 2021 के मध्य में ड्राइवरलेस मेट्रो चलने की उम्मीद है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन(डीएमआरसी) ने चालक रहित मेट्रो चलाने की पूरी तैयारी कर ली है.बीते दो साल से इसकी तैयारी की जा रही थी.
प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा, की लोगों की यात्रा को बेहतर बनाने के लिए यह एक नए युग की शुरूआत है. मेट्रो का दावा है कि चालक से एक बार गलती हो सकती है मगर चालक रहित मेट्रो से किसी भी दुर्घटना की संभवना नहीं है.

 ये मेट्रो जनकपुरी वेस्ट से बॉटनिकल गार्डन के बीच चलेगी.
ये मेट्रो जनकपुरी वेस्ट से बॉटनिकल गार्डन के बीच चलेगी.

जानिए कैसे ये ड्राइवरलेस मेट्रो आपके सफर को खूबसूरत और सुरक्षित बनाने वाली है-
ड्राइवरलेस मेट्रो का सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि इससे यात्रियों का समय बचेगा और महज 90 सेकंड के अंतराल पर मेट्रो का परिचालन हो सकेगा. ड्राइवरलेस मेट्रो के चलने से मेट्रो की फ्रीक्वेंसी बढ़ सकेगी.यात्रियों को कम भीड़ मिलेगी. कम समय में ही लोगों को ट्रेन मिलेगी.इससे समय की बचत के साथ-साथ लोगों की यात्रा भी पहले की तुलना में और ज्यादा सुरक्षित होगी. इसके साथ ही मेट्रो की आय बढ़ सकेगी. इसे कंट्रोल रूम से ही ऑटोमैटिक तरीके से ऑपरेट किया जा सकेगा.

इससे यात्रियों का समय बचेगा और महज 90 सेकंड के अंतराल पर मेट्रो का परिचालन हो सकेगा
इससे यात्रियों का समय बचेगा और महज 90 सेकंड के अंतराल पर मेट्रो का परिचालन हो सकेगा

डीएमआरसी के निदेशक कम्यूनिकेशन ने बताया कि कम्युनिकेशन बेस्ट ट्रेन कंट्रोल सिग्नलिंग(CBTC) सिस्टम एक वाई-फाई की तरह काम करता है.यह मेट्रो को सिग्नल देता है जिससे ट्रेन चलती है. विदेशों में भी कई मेट्रो में इसका इस्तेमाल किया जाता है.
डीएमआरसी के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर अनुज दयाल ने बताया कि बिना ड्राइवर वाली ट्रेन की शुरूआत होने के साथ ही दिल्ली मेट्रो दुनिया के उन चुनिंदा 7 मेट्रो नेटवर्क में शामिल हो जाएगी, जहां ड्राइवरलेस मेट्रो चल रही.

Share, Likes & Subscribe