January 28, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

साइबर ठगों से रहे सावधान

वैक्सीनेशन के रजिस्ट्रेशन वाली कॉल से रहना सावधान !

उत्तराखंड- एक ओर देश में लोग आफत बनी कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं. तो वहीं दूसरी ओर कुछ शातिर महामारी को भी माया समझकर लोगों की गाढ़ी कमाई पर हाथ साफ कर रहे हैं. ये मजाक नहीं बल्कि सोलह आने सच है. अगर आपने इस खबर को हल्के में लिया तो आप भी इनके अगले शिकार हो सकते हैं.

दरअसल कुछ शातिर ठग कोरोना की वैक्सीन लगवाने के नाम पर लोगों को फोन कॉल कर रहे हैं. और फोन करके उन्हें बताते हैं, कि वो सरकारी महकमे से हैं और उन्होंने ये कॉल वैक्सीनेशन के लिए की है. जिसके लिए उन्हें कुछ जानकारियां देनी होंगी. वैक्सीनेशन के नाम पर ये शातिर ठग आपसे आपकी तमाम जानकारियां हासिल कर लेते हैं और आप बैठे बिठाए ठगी का शिकार हो जाते हैं. साइबर सेल ने खटीमा और जसपुर से इस तरह की ठगी के तीन मामलों का खुलासा किया है.

उत्तराखंड में साइबर ठगी के तीन मामलों का हुआ खुलासा
उत्तराखंड में साइबर ठगी के तीन मामलों का हुआ खुलासा

इसमें लोगों से आधार के साथ मोबाइल पर आए ऑटीपी की जानकारी मांगी जा रही है. ये जानकारी देने से बैंक खातों से रकम उड़ाई जा सकती है. जिससे बचने के लिए पुलिस और साइबर सेल लोगों को जागरुक कर रही है. एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने जानकारी देते हुए बताया, कि ठग कोविड के टीके के नाम पर लिंक भेजते हैं, जिसे खोलने पर बैंक खातों के डाटा के साथ रुपयों की ठगी भी हो सकती है.

वैक्सीनेशन पंजीकरण के नाम पर साइबर ठगी
वैक्सीनेशन पंजीकरण के नाम पर साइबर ठगी

कोरोना वैक्सीन के लिए अभी किसी भी तरह के पंजीकरण नहीं करवाए जा रहे हैं. स्वास्थ्य विभाग से इस संबंध में अगर कोई जानकारी दी जाएगी तो वो आधिकारिक रुप से ही होगी. ठग कोरोना की वैक्सीन आने की जानकारी देकर लोगों को पहले चरण का टीका लगाने का लगवाने की बात कह रहे हैं. इसके लिए वो लोगों से भुगतान राशि की मांग करते हैं. जिसके बाद पंजीकरण के नाम पर व्यक्ति के आधार कार्ड और मेल से संबंधित जानकारी मांगी जाती है. आधार कार्ड के वेरिफिकेशन के लिए मोबाइल पर आए ओटीपी की जानकारी मांगी जाती है. इसकी जानकारी मिलने के बाद बैंक खाते से रकम निकाल ली जाती है.

साइबर ठग वैक्सीनेशन पंजीकरण के नाम पर खातों में  डाल सकते हैं, डाका
साइबर ठग वैक्सीनेशन पंजीकरण के नाम पर खातों में डाल सकते हैं, डाका

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया, कि कोरोना वैक्सीन के नाम पर आने कॉल से सावधान रहें. वैक्सीन बन रही है, और अभी इसके लिए किसी भी तरह का पंजीकरण नहीं कराया जा रहा साइबर ठग पंजीकरण के नाम पर बैंक खातों में डाका डाल सकते हैं. अपने आधार कार्ड और मोबाइल पर आने वाले बैंक खाते की जानकारी किसी को न दें.

Share, Likes & Subscribe