January 22, 2021

UK LIVE

ख़बर पक्की है

वक्त पर नहीं भरेंगे “इनकम टैक्स” तो जुर्माने के साथ होगी जेल !

नेशनल डेस्क- इनकम टैक्स रिटर्न भरने की आखिरी तारीख में केवल कुछ ही दिन बचे हैं. कोरोना महामारी के चलते 2019-2020 (असेसमेंट ईयर 2020-21) के लिए टैक्स रिटर्न 31 दिसंबर तक फाइल किया जा सकेगा. इसलिए फालतू के ब्याज और पेनल्टी भरने से बचने के लिए अपना रिटर्न समय से भर लें. ITR फाइल करने में देरी के कारण करदाता को जुर्माना भरना पड़ता है

जुर्माने के तौर पर करदाता को 10,000रूपये लेट फीस चुकानी होगी.ऐसे टैक्सपेयर्स जिनकी इनकम 5 लाख से ज्यादा नहीं है, उनको लेट फीस के रूप में मात्र 1000 रूपये ही देने पड़ते हैं. लेकिन, ज्यादा आय वालों पर यह बढ़ता जाता है. साथ ही कई तरह की इनकम टैक्स छूट भी आपको नहीं मिलेगी. और अगर आप ज्यादा लंबे समय तक टैक्स नहीं भरते तो आयकर विभाग आपको नोटिस भेज सकता है.

10,000 से लेकर 1000 तक भरना पड़ सकता है जुर्माना


ITR फाइल करने में देरी के हो सकते है नुकसान-

* आयकार कानून की धारा-10A और धारा-10B के तहत मिलने वाली छूट नहीं मिलती है.

  • इसी तरह आईटीआर फाइल करने में देरी की तो धारा- 80IA,80IAB,80IC,80ID और 80IE के तहत मिलने वाली छूट भी आपको नहीं मिलेगी.
  • आयकर कानून की धारा- 80IAC,80IBA,80JJA,80JJAA,80LA,80P,80PA, 80QQB और 80RRB के तहत मिलने वाले डिडक्शन का लाभ भी नहीं मिलेगा. इसके लिए आपको सजा भी हो सकती है.
 7 साल की कठोर सजा भी हो सकती है.
7 साल की कठोर सजा भी हो सकती है.

वहीं अगर रिटर्न को फाइल नहीं करते है तो आप करेंट असेसमेंट ईयर के नुकसान को अगले वित्तीय वर्ष में नहीं ले जा सकते हैं. ऐसे लोगों पर टैक्स गणना के मूल्य का 50 फीसदी से लेकर के 200 फीसदी तक जुर्मना लग सकता है.साथ ही ज्यादा वैल्यू वाले केसों में 7 साल की कठोर सजा भी हो सकती है.

आधार कार्ड, पैन कार्ड भी जरूरी
इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते समय आपके पास पैन नंबर और आधार कार्ड नंबर का होना जरूरी है. साथ ही जिस बैंक अकाउंट में खाता है, उसके सभी विवरण आपके पास होना चाहीए. इस अकाउंट से आपके रिफंड का पैसा सीधे आपके अकाउंट में इनकम टैक्स विभाग ट्रांसफर कर देगा.

Share, Likes & Subscribe